झाबुआ

धर्म संस्कृति और संस्कार का संगम  पर भागवत के अंतिम दिन मातृ-पितृ पूजन  ===========!!!!!!!!!!पैर धोकर पूजन किया तो माता -पिता ने बच्चों को गले से लगाया ,आँखे हुई नम

एक दिवसीय भागवत कथा के दिन को मातृ पितृ पूजन का अनूठा आयोजन

झाबुआ / राणापूर- राणापुर विकासखंड के ग्राम रूपाखेड़ा के राम मंदिर स्थित पर प्रांगण में वृहद रूप में किया गया. यहां बड़ी संख्या में बच्चे और उनके अभिभावक मौजूद रहे. बच्चों ने अपने माता पिता की पूजा अर्चना की.अपने देश की मूल सभ्यता को जीवित रखने और माता-पिता के प्रति बच्चों का आदर सत्कार बढ़ाने के उद्देश्य से पूज्य संत श्रीआसाराम जी बापू के दिव्य प्रेरणा से देशभर में आगामी 14 फरवरी वैलेंटाइन डे की जगह मातृ पितृ पूजन बनाने की पहल आयोजित की जा रही उस वक्त कई राज्य में भ्रमण कर पूज्य संतश्री आसाराम जी बापू के कृपा पात्र शिष्य श्री रामाभाई एक दिवसीय सत्संग आयोजित कार्यक्रम में व योग वेदांत सेवा समिति युवा सेवा संघ रूपाखेड़ा ( मांडली नाथू) द्वारा यह आयोजन किया गया. इस दौरान बड़े पैमाने पर स्कूली बच्चों ने
अपने माता-पिता की विधिवत पूजा अर्चना किया. माता पिता ने भी अपने बच्चों को आशीर्वाद दिया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. इस दौरान बच्चों के अभिभावक भाव विभोर होते नजर आए. बच्चों ने हाथों में पूजा की थाली लेकर अपने माता पिता की आरती उतारी और उनसे अपने उज्जवल भविष्य का आशीर्वाद लिया.आयोजकों की माने तो वर्तमान समय में युवा वर्ग अपने माता-पिता का तिरस्कार कर उन्हें वृद्धाश्रम में छोड़ देते हैं. साथ ही आज के युवा पाश्चात्य सभ्यता को अपनाते दिख रहे हैं. मगर इस तरह के पूजन के आयोजन से बच्चों में अपने माता पिता के प्रति संस्कारों का सृजन होगा. इस दौरान बच्चे भी अपने माता पिता का प्यार पाकर भावविभोर हो गए. भारतीय संस्कृति का विनाश होने के साथ परिवार में संस्कार की महानता कम हो गई है आज इस घोर कलयुग में युवा पीढ़ी पश्चिमी संस्कृति से जकड़ गई है इसी कारण आज मां बाप को भूल ती दिखाई दे रहे हैं और युवा पीढ़ी जिस तरह से आज को मोबाइल इंटरनेट दुर्ग प्रणाम के माध्यम से युवा पीढ़ी आत्महत्या कर प्रेम प्रसंग में विचलित होते गए हैं और उन्हें मां बाप को सम्मान करना भूल गए हैं उस वक्त महाराज जी ने
अगर अपने माता पिता की पूजा अर्चना इस तरह की जाएगी तब आने वाले समय में वृद्धाश्रम की जरूरत नहीं पड़ेगी.अतिथि के के रूप गुजरात के देहदा के आदिवासी समाज के गुरु गंगाराम महाराज ने भी समिलित होकर
कार्यक्रम में विधायक गुमान सिंह डामोर ने भी विचार रखें मातृ-पितृ पूजन दिवस की अपील की युवाओं को व विशाल भंडारा का लाभ लिया आशीर्वाद प्राप्त कर आयोजन योग वेदांत सेवा समिति रूपाखेड़ा ।

Show More

Piyush Gadiya

प्रादेशिक जन समाचार स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा मंच है। यहां विभिन्न समाचार पत्रों/टीवी चैनलों में कार्यरत पत्रकार अपनी महत्वपूर्ण खबरें प्रकाशन हेतु प्रेषित करते हैं ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close