0
9

झाबुआ जिले के कालीदेवी में सांस्कृतिक पर्व भगौरिया का रंग जमा
कालीदेवी के भगौरिया में उमडा जनसैलाब
स्थानीय नृतक दल के साथ संस्कृति विभाग के दलो ने बिखेरे संस्कृति के रंग
    झाबुआ 23 फरवरी 18/होलिका दहन के पूर्व सात दिनों तक मनाया जाने वाला सांस्कृतिक पर्व भगौरिया का आज से झाबुआ जिले में आगाज हुआ। आज 23 फरवरी को कालीदेवी, भगोर, मांडली एवं बैकल्दा में भगौरिया उत्सव मनाया गया। नये-नये परिधानों व परंपरागत गहने, चश्मा धारण किये हुए युवक-युवतियों ने भगोरिया में ख्ूाब आनंद लिया। झूलो पर झूलने के साथ ही पान कुल्फी, बर्फ के गोले, आईसक्रीम एवं शर्बत का जायका लिया। तो बच्चों के लिए भी हाट में मंनोरंजन के साधनों की भी कमी नहीं थी। बच्चों ने चकरी, घोडागाडी का आनंद लिया।
रंग-बिरंगे चश्मों में खिंचाये फोटो
    मेला स्थल पर अस्थाई फोटो स्टूडियों की भी भरमार थी। नये नये वस्त्र धारण किये मेले में आये युवक-युवतियों ने फोटो स्टूडियों पर परंपरागत गहनों के साथ रंग बिरंगे चश्में पहन कर फोटो भी खिंचवाये। भगोरिया मेले में आये लोगो ने अपने रिश्तेदारो को झूले पर झूलाया, पान, मिठाई कुल्फी, भजिये आईस्क्रीम खिलाकर सत्कार किया एवं अभिवादन कर उत्सव की बधाई दी।
    भगौरिया उत्सव में उत्सव का आनंद लेने आये ग्रामीणो को नुक्कड नाटक के माध्यम से स्वच्छ भारत मिशन, स्वच्छ पेयजल एवं साक्षरता का महत्व बताया गया एवं शासन की अन्य योजनाओं की जानकारी दी गई एवं भगौरिया उत्सव स्थल पर जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रदर्शनी लगाकर लाडली लक्ष्मी योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना मुख्यमंत्री मजदूर सुरक्षा योजना, स्वच्छता मिशन, उज्जवला योजना, प्रधान मंत्री आवास योजना, मनरेगा योजना, कृषि संबंधी योजनाओं की जानकारी दी गई।
    भगोरिया मेले में झूले, चकरी, एवं कुल्फी के ठेले आदि विशेष आकर्षण का केन्द्र थे। इन स्थानों पर सुबह से ही भीड थी हर कोई झुलने के लिए लाईन में अपनी बारी का इंतजार कर रहा था। झुले में झुलने का उत्साह जबरजस्त देखने को मिला। बच्चों सहित युवक-युवतियांे ने हंसी ठिठोली के साथ झुलने का आंनद लिया  ढोल-मांदल के साथ थिरकते हुए युवक-युवतियों ने ढोल पर नाच कर कुर्राटी के साथ भगौरिया उत्सव का आनंद लिया। 24 फरवरी को जिले में मेघनगर, बामनिया, रानापुर, झकनावदा में भगौरिया उत्सव मनाया जायेगा।
संस्कृति विभाग के नृतक दलो ने दी प्रस्तृति
    भगौरिया पर्व के दौरान झाबुआ जिले में मध्यप्रदेश शासन के संस्कृति विभाग द्वारा जनजातीय नृत्यो पर एकाग्र ‘‘सम्पदा समारोह‘‘ का आयोजन भी किया गया। भगौरिया पर्व के दौरान पारंपरिक नृत्य दलो के कलाकारो द्वारा नृत्यो की प्रस्तुति दी गई। भगौरिया पर्व की दृष्टि से सुसज्जित संस्कृति विभाग द्वारा एक वाहन जिसमें एलईडी, ध्वनि एवं अन्य तकनीकी उपकरण थे। के माध्यम से भगौरिया से संबंधित फोटो एवं विडियों का प्रदर्शन भी किया गया। भगौरिया उत्सव के दोैरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले नृत्य दल, अच्छा ढोल बनाने वाले व्यक्ति, अच्छा सुसज्जित होकर आये युवक-युवती को भी कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना ने पुरस्कृत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here