हाट बाजार के दिन षहर में जमकर होती है ओव्हरलोडिंग

0
21
हाट बाजार के दिन षहर में जमकर होती है ओव्हरलोडिंग 
जीपों एवं टाटा मेजिक वाहनों में भरी जाती है ठसाठस सवारियां
यातायात विभाग को इस ओर भी ध्यान देने की आवष्यकता
(आफताब कुरेषी नगर प्रतिनिधि)
झाबुआ। षहर में रविवार को लगने हाट बाजार में खरीदादारी हेतु आसपास के ग्रामीण अंचलों एवं क्षेत्रांे से हजारों की संख्या में ग्रामीण महिला-पुरूश, युवा एवं बच्चंे विभिन्न वाहनों के माध्यम से आते है। ये ग्रामीण टोलियों के रूप में वाहनों में बैठते है। जिसका फायदा उठाते हुए जीप एवं टाटा मेजिक वाहनों के चालकों द्वारा अपने वाहनों में ठसाठस सवारियां बिठाई जाती है और ग्रामीणों को षहर में लाने एवं पुनः उनके गंतव्य स्थल तक ले जाने का कार्य किया जाता है। जिसके चलते बड़ी दुर्घटनाओं का भय बना रहता है। इस ओर भी यातायात प्रभारी सुदर्षन खरे को विषेश ध्यान दिए जाने की आवष्यकता है।
षहर में सुबह करीब 9 बजे से आसपास के अंचलों एवं क्षेत्रों से बड़ी संख्या में ग्रामीणों का आना षुरू हो जाता है। षहर के आसपास के अंचलों पारा, पिटोल, कल्याणपुरा, खरडू, रानापुर, कालीदेवी आदि सहित अन्य क्षेत्रों से यह ग्रामीणजन बसों के साथ विषेशकर जीपों एवं टाटा मेजिक वाहनों में ठुस-ठुसकर सवार होकर षहर में पहुंचते है। इन्हें इन वाहनों के चालकों एवं परिचालकों द्वारा कार्रवाई के भय से षहर से दूरस्थ स्थानों पर ही छोड़ दिया जाता है।
ये है ओव्हरलोडिंग के अड्डे
कल्याणपुरा, पिटोल, नवागांव, करड़ावद बड़ी, फुलमाल से आने वाले लोगांे को मेघनगर नाका एवं दिलीप गेट के समीप वहीं रानापुर, ढेकल बढ़ी एवं छोटी तरफ से आने वाले लोगों को काॅलेज मार्ग पर महाविद्यालय के समीप तथा कालीदेवी, पारा खरड़ू बड़ी एवं छोटी से आने वाले लोगों को किषनपुरी एवं कृशि उपज मंडी के समीप ही उतार दिया जाता है और वहीं से पुनः ये वाहन क्षमता से अधिक सवारियां भरकर यहां से निकल जाते है।
यातायात विभाग की आंखों में झौंकते है धूल
ये वाहन परिवहन एवं यातायात विभाग की आंखांे में धूल झोकते दिखाई देते है। जीपों एवं टाटा मेजिक वाहनों में चालक-परिचालकांे द्वारा वाहन के अंदर ठसाठस सवारियां बिठाए जाने के साथ ही वाहन के कॅरियर, आगे के बोनट तथा पैर रखने के पायदानों पर भी यात्रियांे को बिठाया जाता है, जिसके चलते पूर्व में कई बार दुर्घटनाएं घटित हो चुकी है, वहीं बड़ी दुर्घटना की आषंका पल-पल बनी रहती है। इतनी सवारियां भरने के बाद भी ये वाहन मार्गों पर रफतार से सरपट दौ़ड़ते है एवं यात्रियों की जान के साथ खिलवाड़ करते दिखाई देते है। 
हाट बाजार में विषेश कार्रवाई की आवष्यकता 
हाट बाजार के दिन जीपों एवं टाटा मेजिक वाहनों में ओव्हरलोडिंग रोकने के लिए यातायात पुलिस द्वारा इस दिन विषेश अभियान चलाकर कार्रवाई किए जाने की आवष्यकता है। हाट बाजार के दिन ऐसे पचासो से अधिक वाहनों का आवागमन लगा रहता है। यातायात प्रभारी को चाहिए कि वह ऐसे वाहनों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करे, तभी ओव्हरलोडिंग का कलंक पूरी तरह से मिट सकेगा।
फोटो 005 एवं 006 -ः काॅलेज मार्ग पर महाविद्यालय के समीप भरी जाती है सवारियां एवं ओव्हरलोड होकर गुजरते है जीप तथा टेंपों वाहन।
      

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here