आपको एलर्जी से बचाएंगी ये 10 छोटी-छोटी बातें…!

0
14
   भोपाल : त्वचा खुजलाना, बार-बार छींकना, आंखें लाल होना आदि एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं। सामान्यत: एलर्जी को हम नजरअंदाज कर देते हैं। ऐसा करने से एलर्जी स्थायी हो जाती है। शुरुआती दौर में ही एलर्जी का इलाज कर लेने से इस पर काबू पाया जा सकता है।

एलर्जी को शुरुआती स्तर पर कम करने के लिए कुछ आसान तरीके अपनाए जा सकते हैं। इससे एलर्जी से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। रोजमर्रा के जीवन में थोड़े से बदलाव करके एलर्जी को बड़ी बीमारी बनने से रोका जा सकता है। 
क्या आप जानते हैं? अमेरिका की दो फीसदी आबादी पीनट बटर खाने से होने वाली एलर्जी से पीड़ित हैं। यह संख्या पिछले दस सालों में दोगुनी हो गई है।एलर्जी किसी भी उम्र में हो सकती है, लेकिन बच्चों में यह कॉमन होता है। हेरेडेटी का भी इसमें खास रोल होता है। आपके परिवार में अगर किसी को एलर्जी है, तो यह आपको भी हो सकती है। इसके साथ ही यह भी हो सकता है कि आपके माता-पिता दोनों को ही एलर्जी हो, लेकिन आप इसके शिकार न हों। आपके आसपास का माहौल भी इसके लिए काफी हद तक जिम्मेवार है। कई बार स्मोक, पल्यूशन और हार्मोंस- एलर्जी के कारण होते हैं।
गर्म पानी में धोएं चादर
यदि आपको बार-बार त्वचा संबंधी एलर्जी सता रही हो तो उबलते पानी में चादर को धोना कारगर विकल्प हो सकता है। दक्षिण कोरिया में हुए एक शोध में पाया गया है कि जो लोग चादरों को गर्म पानी में धोते हैं, उन्हें एलर्जी होने की संभावना 35 फीसदी कम होती है।                          
 घर में लगाएं पौधे 
घर के अंदर पौधे लगाने से सामान्य एलर्जी से बचा जा सकता है। बेल्जियम में हुए एक शोध के अनुसार जो लोग घर में पौधे लगाते हैं, वे एलर्जी के शिकार कम होते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here