शक्तिवर्धक दवा मिला दूध पिलाकर एकांत में मिलते थे आसाराम’

0
12
अहमदाबाद। नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी आसाराम नए विवादों में घिर गए हैं। उनके अहमदाबाद आश्रम में 18 साल तक वैद्यराज रहे अमृत प्रजापति ने ही आसाराम के कई राज खोले हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी महिला को एकांत में मिलने के लिए बुलाने के साथ ही आसाराम शक्तिवर्धक दवाइयां मंगवाते थे।
दवाओं को दूध में मिलाकर महिला को पिलाया जाता था।   इस बात की पुष्टि आसाराम पर आरोप लगाने वाली लड़की के बयान से भी होती है। उसने पुलिस रिपोर्ट में कहा है कि ज्यादती से पहले उसे भी एक गिलास दूध पीने को दिया गया था। 2005 में प्रजापति को आश्रम से निकाल दिया गया था।इस पर वैद्य का कहना है कि मुझे आश्रम की अनैतिक गतिविधियों की जानकारी हो गई थी। इसी वजह से हटाया गया। पांच बार जानलेवा हमले भी हुए हैं।जुलाई-2008 में अहमदाबाद में दीपेश-अभिषेक की रहस्यमय गुमशुदगी और मौत के मामले में बने जांच आयोग के सामने भी प्रजापति ने यह बात कही थी।                                                         

   खुद अफीम पीते हैं आसाराम

प्रजापति का कहना है कि आसाराम मुझसे शक्तिवर्धक दवाइयां मंगवाते थे। जैसे- कामिनी मर्दन, अश्वगंधा, शिलाजीत, मकरध्वज रस आदि। रतलाम से 17 किलोमीटर दूर आसाराम का पंचेड आश्रम है। वहां अफीम की खेती होती है। वहां से नियमित तौर पर आसाराम के लिए अफीम मंगाई जाती थी। आसाराम उसे ‘पंचेडबूटी’ कहते थे। उसका नियमित सेवन करते थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here