झाबुआ

रानापुर और कुंदनपुर थाने पर रिपोर्ट नहीं लिखने के कारण ग्रामीण एसपी निवास पर पहुंचे

रानापुर और कुंदनपुर थाने पर रिपोर्ट नहीं लिखने के कारण ग्रामीण एसपी निवास पर पहुंचे

रानापुर और कुंदनपुर थाने पर रिपोर्ट नहीं लिखने के कारण ग्रामीण एसपी निवास पर पहुंचे

युवक का अपहरण करने पर घटना की रिपोर्ट

कुंदनपुर चौकी एवं रानापुर थाने पर दर्ज नहीं करने पर

खेड़ा के ग्रामीणों ने जताया आक्रोष

घटना की एफआईआर दर्ज कर आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की

झाबुआ। खेड़ा के ग्रामीणों की रानापुर और कुंदनपुर थाने में रिपोर्ट नहीं लिखने की बात पर ग्रामीण आक्रोशित हुए। जिसके कारण ग्रामीण लोग बड़ी संख्या एसपी के निवास पर जाकर के रानापुर और कुंदनपुर थाने के खिलाफ भी अपना आक्रोष एसपी के सामने बयां किया। ग्रामीणों का कहना है कि तत्काल कार्रवाई नहीं हुई तो वह एसपी के निवास के बाहर ही धरना दे देंगे। मंगलवार को शासकीय अवकाष होने से रानापुर तहसील के ग्राम खेड़ा के बड़ी संख्या में ग्रामीण पुरूष दोपहर करीब 1 बजे पुलिस अधीक्षक के निवास पर पहुंचे और उनके निवास पर एकत्रित होकर एसपी विनीत जैन के आने पर उन्हें आवेदन दिया। जिसमें बताया कि ग्राम खेड़ा में एक युवक का आलीराजपुर के भाभरा तहसील के कुछ ग्रामीणों द्वारा अपहरण कर लिया गया है। जिसकी रिपोर्ट कुंदनपुर चौकी एवं रानापुर थाने पर दर्ज करवाने के लिए जाने पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की जा रहीं है। आवेदन देने के बाद ग्रामीणों ने चेतावनी स्वरूप कहा कि यदि जल्द ही घटना में एफआईआर दर्ज कर आरोपियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो सभी ग्रामीण पुलिस अधीक्षक के निवास के बाहर ही धरने पर बैठे जाएंगे।

जिले के कुंदनपुर पोस्ट, तहसील रानापुर के ग्राम खेड़ा से खुमान पिता रूपा मेड़ा के साथ आए भगत समाज के बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने मंगलवार को पुलिस अधीक्षक निवास पहुंचकर यहां अपना विरोध प्रकट करते हुए पुलिस अधीक्षक जैन को आवेदन देकर बताया कि खुमान के पुत्र सतुर मेड़ा उम्र 19 वर्ष ग्राम खेड़ा में निवासरत होकर 18 फरवरी को दोपहर 11 बजे ग्राम सुरडि़या से विपक्षी दिनेष सरपंच निवासी मोटीबड़ोई तहसील भाबरा जिला आलीराजपुर के साथ लिमजी पूर्व सरपंच, छगन चौहान, मगन चौहान, पारसिंह चौहान, जोरीया चौहान निवासीगण ग्राम भूरिया आम्बा तहसील भाबरा जिला आलीराजपुर जर्बदस्ती सतुर को उठा कर ले गए।

भाई को दी अपहरण करने की सूचना

बाद दिनेष सरपंच ने प्रार्थी के भाई सेगा पिता केगु मेड़ा को दोपहर करीब 1 फोन किया कि हमारे द्वारा सतुर को अपहरण किया गया है। उनके गांव की लड़की राधी को ग्राम खेड़ा का राकेष भगा कर लाया है, उसे वापस करने पर वह सतुर को छोड़ेंगे। इस दौरान सेगा ने कहा कि हमारा उक्त लड़के एवं लड़की से कोई लेना-देना नहीं है। मेरे भतीजे को छोड़ दो, जिस पर लड़की राधी को वापस नहीं लौटाने तक युवक को नहीं छोड़ने की बात विपक्षियों ने कहीं।

कुंदनपुर चौकी एवं रानापुर थाने पर दर्ज नहीं की रिपोर्ट

बाद खुमान, सेगा द्वारा कुंदनपुर चौकी पहुचंने पर रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया गया। पश्चात् रानापुर थाना जाने पर वहां पर भी एफआईआर नहीं की गई। खुमान ने बताया कि उसके भाई सेगा की विपक्षीगणों से बातचीत की रेकार्डिंग भी उसके पास उपलब्ध है। ज्ञापन में कहा गया कि विपक्षीगणों से सतुर को जान से मारने का खतरा बना हुआ है, इसलिए थाना रानापुर पर प्रार्थी की अतिषीघ्र एफआईआर दर्ज कर उसके पुत्र को विपक्षीयों के कब्जे से छुड़कार अपहरणकर्ताओं पर सख्त कार्रवाई की जाए।

नहीं तो बैठेंगे धरने पर

आवेदन बाद खेड़ा के भगत समाज के लोगों ने कहा कि यदि अतिषीघ्र आरोपियों पर कार्रवाई नहीं होती है तो वह सभी मजबूर होकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के निवास पर धरने पर बैठने को भी मजबूर होंगे। ज्ञापन पश्चात् मीडिया को वर्सन देते हुए पुलिस अधीक्षक जैन ने कहा कि उन्होंने कुंदनपुरी चौकी प्रभारी एवं रानापुर थाना प्रभारी को इस मामले में कार्रवाई के निर्देष दे दिए है।

19 झाबुआ 1- रिपोर्ट नहीं लिखने का कारण आक्रोशित ग्रामीण पहुंचे एसपी के निवास पर

फोटो 19 झाबुआ 2- पुलिस अधीक्षक निवास के बाहर एकत्रित ग्राम खेड़ा के ग्रामीणजन

19 झाबुआ 3- पुलिस अधीक्षक जैन को आवेदन देकर चर्चा करते हुए खुमान मेड़ा एवं अन्य

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close